रणजी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश ने मुंबई को हराकर इतिहास रच दिया है. मध्य प्रदेश ने अपना पहला रणजी खिताब जीता है. इस मैच को मध्य प्रदेश ने मुंबई को 6 विकेट हराकर अपने नाम किया है. मुंबई की टीम रणजी में 41 बार की चैंपियन रहे चुकी है. इस मैच में एमपी ने पहली पारी में एक बड़ा स्कोर खड़ा करके मैच को अपनी तरफ गिरा लिया था.

एमपी ने पहली पारी में ही कर दिया था कमाल

madhya pradesh ranji team

इस मैच में मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया और 10 विकेट खोकर 374 रन बोर्ड पर लगा दिए. इसके जवाब में एमपी ने अपनी पहली पारी में 10 विकेट के नुकसान पर 536 रनों का एक विशाल स्कोर खड़ा कर दिया. इस स्कोर को देखते हुए पहले लग रहा था कि मुंबई एक पारी से हार जाएगी. लेकिन दूसरी पारी में मुंबई ने अपनी थोड़ी सी इज़्ज़त बचा ली, लेकिन अफसोस मुंबई मैच नहीं बचा पाई.

ALSO READ: IND vs IRE: आयरलैंड के खिलाफ वसीम जाफर ने चुनी भारतीय टीम की प्लेइंग XI, भुवनेश्वर की जगह इस खिलाड़ी को दिया मौका

मुंबई ने गंवा दिया मैच

Mumbai ranji team

दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए मुंबई ने 10 विकेट खोकर 269 रन बनाए और एमपी को 108 रनों का टारगे दिया. इस टारगेट को मुंबई ने चार विकेट खोकर बड़ी ही आसानी से हासिल कर लिया. पहली पारी में एमपी की तरफ से ओपनिंग आए यश दुबे ने 133, रजट पाटीदार ने 122, शुभम शर्मा ने 116 और स्रनेश जैन ने 57 रनों की एक अर्धशकतीय पारी खेली.

सरफराज खान रहे ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’

इस सीरीज में सरफराज खान को ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ चुना गया. सरफराज ने इस सीजन ताबड़तोड़ पारियां खेली. उनकी इन पारियों के चलते उन्हे ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ का खिताब दिया गया. वहीं, फाइनल मैच की बात करें तो इस मैच में एमपी ती तरफ से खेलने वाले शुभम शर्मा को ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड दिया गया.

ALSO READ: ‘मैं बहुत अच्छा हूं, मैं यहां किसी को कुछ दिखाने नहीं आया हूं’, मैच से पहले कप्तानी को लेकर हार्दिक पांड्या का आया बयान