team india 7 1 - 1

रविवार को भारतीय टीम ने नीदरलैंड्स के खिलाफ वनडे विश्व कप 2023 में लगातार 9वीं जीत दर्ज की। इसी के साथ टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच गई है। अब भारतीय टीम का सामना न्यूजीलैंड से 15 नवंबर को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा। उम्मीद है कि इस मैच में टीम इंडिया 2019 के सेमीफाइनल में मिली हार का बदला लेने में कामयाब होगी। इस मैच से पहले टीम इंडिया के स्टार स्पिनर कुलदीप यादव ने चर्चा की।

मुंबई की पिच कठिन…

नीदरलैंड्स के खिलाफ मुकाबले में जीत दर्ज करने के बाद कुलदीप यादव  ने भारत बनाम न्यूजीलैंड मैच को लेकर बात की। उन्होंने बताया कि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में गेंदबाजों को मुश्किल होगी।

कुलदीप यादव ने कहा कि,

“यह गेंदबाजों के लिए मुश्किल मैदान है। यहां उछाल वाली पिच है और बल्लेबाज अक्सर हावी रहते हैं। टी20 के विपरीत वनडे में गेंदबाजों के पास खेल में वापस आने के लिए काफी समय होता है, लेकिन हां, आपको कुछ शुरुआती विकेट की जरूरत होगी, जो विरोधियों पर हावी होने के लिए मदद करेगा।”

2019 की गलतियों से भारत लेगा सबक

बता दें कि साल 2019 में न्यूजीलैंड ने मैनचेस्टर में भारतीय टीम को 18 रनों से मात दी थी। इस मैच में टीम इंडिया को 239 रनों का लक्ष्य मिला था जिसका पीछा करते हुए भारतीय टीम 221 रनों पर ऑलआउट हो गई थी।

पिछले मैच के विषय में बात करते हुए कुलदीप यादव ने बताया कि फिलहाल भारतीय टीम फॉर्म में चल रही है। इस बार टीम इंडिया की तैयारी अच्छी है।

स्टार स्पिनर ने कहा कि,

“2019 सेमीफाइनल (न्यूजीलैंड के खिलाफ) 4 साल पहले हुआ था। हमने उनके बाद कई द्विपक्षीय सीरीज खेली हैं, इसलिए हम परिस्थितियों (भारत में) को जानते हैं। हमारी तैयारी अच्छी रही है और हम पूरे टूर्नामेंट में अच्छी क्रिकेट खेलने में सक्षम रहे हैं। इसलिए हम अगले मैच में भी इसी तरह जारी रहने की उम्मीद करते हैं।”

एक्स फैक्टर साबित हुए स्पिनर

गौरतलब है कि वनडे विश्व कप 2023 में टीम इंडिया के लिए कुलदीप यादव एक्स फैक्टर साबित हो रहे हैं। उन्होंने भारत के स्पिन विभाग को मजबूती दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। 9 मैचों में कुलदीप यादव ने 4.15 के इकॉनमी रेट से रन खर्च करते हुए 14 विकेट लिए हासिल किए हैं।

इस टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन पर भी कुलदीप यादव ने चर्चा की। उन्होंने कहा कि,

“मैं सिर्फ अपनी लय और ताकत पर काम करता हूं और इस बात पर ध्यान केंद्रित करता हूं कि बल्लेबाज मुझे कैसे खेलने की कोशिश कर रहे हैं। मेरा लक्ष्य जितना संभव हो सके गेंद को गुड लेंथ क्षेत्र पर फेंकना है। मैं सिर्फ विकेटों के बजाय प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित रखता हूं। उम्मीद है यह अगले मैच में भी काम करेगा।”

ALSO READ: IND vs NED: नीदरलैंड्स के खिलाफ क्यों कराई 9 खिलाड़ियों से गेंदबाजी? कप्तान रोहित शर्मा ने अब दिया ये जवाब