RCB
जिस RCB ने महज 4 मैच के बाद नहीं समझा काबिल, उसने इंग्लैंड में बल्ले से मचा रखा हैं कोहराम, दिला रहा अपने टीम को जीत

आईपीएल (IPL) के 15वें सीजने में RCB प्लेऑफ में जाकर बाहर हो गई. इस बार बैंगलोर के फैंस पूरी उम्मीद लगाए बैठे थे कि उनकी टीम पहली बार IPL  का खिताब अपने नाम करेगी, लेकिन अफसोस ऐसा हो न सका. इस सीजन RCB  ने कुल 16 मुकाबले खेले, जिसमे उन्हें 9 में जीत और 7 में हार मिली. इस बार के मेगा ऑक्शन में आरसीबी ने एक ऐसे खिलाड़ी को टीम का हिस्स बनाया जो चार बार आईपीएल ट्रॉफी जीत चुका है लेकिन उसे एक भी मैच खेलने का मौका नहीं दिया.

इस खिलाड़ी को नहीं दिया प्लेइंग इलेवन में एक भी मौका

इस साल की मेगा नीलामी में RCB  ने कर्ण शर्मा को 50 लाख रूपए की बेस प्राइस पर खरीदा था. लेकिन इनको आरसीबी की तरफ से इस सीजन एक भी मौका नहीं दिया. उन्होंने अपना पूरा टाइम बेंच पर बैठ कर ही निकाल दिया. कर्ण शर्मा अपनी शानदार गेंदाबाज़ी के लिए जाने जाते हैं. वो साल 2009 से आईपीएल का लगातार हिस्सा बनते आ रहे हैं, लेकिन इस बार उन्हें एक मैच खेलना भी नसीब न हुआ.

ALSO READ:IPL 2022: इस आईपीएल इन 5 बल्लेबाजों ने बनाये हैं सबसे ज्यादा रन, टॉप 5 में भारतीय बल्लेबाजों का दबदबा है कायम

चार बार रह चुका है विनिंग टीम का हिस्सा

कर्ण शर्मा चार बार विनिंग टीम का हिस्सा रहे चुके हैं. साल 2016 में कर्ण शर्मा सनराइजर्स हैदराबाद का हिस्सा थे, जब टीम ने आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. इसके बाद साल 2017 में मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे, जब मुंबई ने इंडियन प्रीमियर लीग जीता था. फिर साल 2018 और 2021 में वो चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा थे, इन दोनों साल ही चेन्नई ने आईपीएल ट्रॉफी जीती थी.

क्रिकेट के अलावा रेलवे में की है नौकरी

क्रिकेट से पहले वो रेलवे की फोर्थ ग्रेड नौकरी किया करते थे. साल 2005 में वो रेलवे में पटरियों की मरम्मत करने का काम किया करते थे. साल 2014 में सनराइजर्स ने उन्हें 3.75 करोड़ में खरीद कर उनकी किस्मत को बदलकर रख दिया. कर्ण रेलवे की नौकरी से एक दम करोड़पति बन गए. आईपीएल के अलावा साल 2014 में उन्होंने अपना पहला टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था.

ALSO READ:Women’s T20 Challenge: आज खेला जायेगा महिला IPL का फाइनल, ट्रॉफी जीतने के लिए इस खिलाड़ी को दीप्ति शर्मा देंगी मौका, देखे संभावित प्लेइंग XI