मुंबई इंडियंस ने आईपीएल से बाहर होने के बाद भी क्यों नहीं दिया था अर्जुन तेंदुलकर को मौका, वजह आई सामने
मुंबई इंडियंस ने आईपीएल से बाहर होने के बाद भी क्यों नहीं दिया था अर्जुन तेंदुलकर को मौका, वजह आई सामने

IPL 2022 में कई नए चहरे देखने को मिले हैं जो अपने प्रर्दशन से सुर्खियो में रहे. ऐसे में कई टीमों में नए – नए खिलाड़ियों को मौका भी मिला है. लेकिन बात करें, IPL इतिहास के सबसे सफल टीम की यानि मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की जिसने कई युवा खिलाड़ियों को टीम में खेलने को मौका दिया है. माना जा रहा था कि IPL के 15वें सीजन में साचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) को अपने डब्यू को मौका मिल सकता था

अर्जुन तेंदुलकर को इस साल भी नहीं मिला मौका

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) को एक बार फिर इंतजार करना पड़ा हैं इस साल भी मुंबई इंडियंस (MI) ने अर्जुन को मौका नहीं दिया हैं. ये साल भी उन्हें ऐसे ही मैदान के बाहर ही बैठे – बैठे गुजारना पड़ा है. जबकि, मुंबई इंडियंस के प्लेऑफ की रेस से बाहर होने के बाद ऐसा लग रहा था कि अर्जुन को टीम में जगह मिल सकती है लेकिन इस शाम भी अर्जुन को इंतजार ही करना पढ़ा हैं.

ALSO READ: साक्षी धोनी ने बयां किया अपना दर्द, महेंद्र सिंह धोनी से शादी करने के बाद इस बात से नहीं हैं खुश

मोहम्मद कैफ ने दिया बयान

पूर्व भारतीय खिलाड़ी मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने अपने इंटरव्यू में बयान दिया हैं कि अर्जुन तेंदुलकर को क्यो इंतजार करना पड़ रहा हैं. कैफ ने जाहिर किया है कि अर्जुन अभी IPL का प्रेशर नहीं झेल पाएगे.

कैफ ने कहा,

“अगर एमआई को लगा कि अर्जुन तेंदुलकर तैयार हैं तो वे अब तक उसे मैच में ले चुके होते. मुझे लगता है कि उन्हें लगता है कि उन्हें अभी भी अपने गेम पर काम करने की जरूरत है. एक खिलाड़ी को आजमाने के लिए एक कप्तान आखिरी गेम तक इंतजार क्यों करेगा? अगर वह काफी अच्छा होता, तो वह पहले ही प्लेइंग इलेवन में होता. मुझे नहीं लगता कि रोहित शर्मा ऐसे कप्तान हैं, जो किसी खिलाड़ी को सिर्फ इसलिए आजमाएंगे क्योंकि यह आखिरी मैच है। एमआई अपने सर्वश्रेष्ठ संयोजन के साथ जाना चाहता है और इस खेल को जीतने की कोशिश करना चाहता है।”

ALSO READ: शादी के 6 महीने बाद खुलासा कैटरीना कैफ अभी नहीं बन सकती माँ, विक्की कौशल को वारिस मिलना मुश्किल