न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच तीन मैच को टेस्ट सीरीज का पहला मैच इंग्लैंड टीम ने 5 विकेट से जीता है। इस जीत के मुख्य नायक पूर्व कप्तान जो रूट रहें। जिन्होंने साझेदारी के साथ पहले शतक बनाया और 10 हजार रन पूरे किए और फिर विकेट ना गिरने देते हुए टीम को चौका लगाकर जीत दिलाई।

इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने 5 विकेट से ये मैच जीता तो न्यूजीलैंड टीम अंतिम दिन एक भी विकेट नहीं ले सकी। इसके लिए हार का समाना करना पड़ा है। खैर, इस मैच में हार जीत के अलावा सभी बेन स्टोक्स और जो रूट के बीच के समीकरण को भी देखना चाहती थी। टेस्ट सीरीज में हार के बाद जो रूट ने कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद बेन स्टोक्स को कप्तान बनाया गया। जिसके बाद ये पहला मैच था। इस मैच में जो रूट ने बेन स्टोक्स के अंडर खेलकर अच्छा लगा ये कहा है।

बेन स्टोक्स के लिए हमेशा मौजूद रहूंगा : जो रूट

जो रूट ने मैच में जीत दिलाने के बाद कहा कि अब फैंस उनके द्वारा बनाए गए व्यक्तिगत प्रदर्शन के बारे में बातचीत कर सकते हैं। जोकि ठीक भी है। साथ ही खिलाड़ी ने हार के बाद ऐसा किया जाना अच्छा नहीं होता है, इस बात को भी बताया। साथ ही उन्होंने एक खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर जब भी बेन स्टोक्स को उनकी जरूरत महसूस होगी, वो मौजूद होंगे। ऐसा कहा है। जो रूट ने कहा,

“बहुत से लोग मेरे व्यक्तिगत प्रदर्शन के बारे में बात करेंगे, लेकिन जब आप हार रहे हों तो यह कभी अच्छा नहीं होता है। स्टोक्स के नेतृत्व में इस तरह की शुरुआत करना हमारे लिए वास्तव में अच्छा है। उन्हें ( बेन स्टोक्स) जरूरत होगी वह स्टोक्स के लिए हमेशा मौजूद रहेंगे”।

Also Read : IND vs SA: टी20 सीरीज से पहले इरफान पठान ने टीम इंडिया को दी चेतावनी, इस खिलाड़ी से नहीं बचे तो खत्म कर देगा सीरीज जीतने का ख्वाब

मैच में शतक के साथ पूरे किए 10 हजार रन

जो रूट

बेन स्टोक्स की कप्तानी में उतरे जो रूट ने बेन स्टोक्स के बारे में बातचीत करते हुए कहा कि वो जब भी उनकी जरूरत महसूस करेंगे, वो मौजूद रहेंगे। साथ ही कहा कि जब भी उनकी मदद करनी होगी वो करने के लिए तैयार है। बता दें, पहले मैच में टिम साउदी की गेंदबाजी के खिलाफ चौका लगाकर जो रूट ने अपना 26वां टेस्ट शतक पूरा किया और 10,000 टेस्ट रन पूरे किए। ऐसा करने वाले वो सर एलिस्टेयर कुक के बाद 14वें क्रिकेटर है और सिर्फ दूसरे अंग्रेजी खिलाड़ी हैं।

जो रूट ने कहा “मैंने यह स्पष्ट कर दिया है कि जब भी उन्हें (स्टोक्स) मेरी जरूरत होगी, मैं हमेशा मदद के लिए रहूंगा। मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि अगर उन्हें मेरी मदद की जरूरत होगी तो मैं उन्हें हर संभव मदद करूंगा“।

टेस्ट मैच जीतना टीम के लिए अच्छा है

जो रूट ने आगे अपनी बातचीत में टीम के बारे में बात करते हुए कहा कि,

“एक टेस्ट मैच जीतना हमारे लिए अच्छा है। बेन और ब्रेंडन के तहत जोरदार शुरुआत करना और हमारे लिए जीतना जरूरी था। कोरोना महामारी से बचने के लिए लॉडर्स क्रिकेट मैदान पर में कई उपाय किए गए हैं, जिसमें कैसे खेला जाए? हर पहलुओं पर बारिकी से ध्यान केंद्रित किया गया था। मैच में एक अलग क्षण था ( बेन स्टोक्स के आउट होने पर) जब दूसरी बार उन्होंने उस गेंद को बदल दिया और वह गेंद पहले की तरह स्विंग नहीं की। यह काफी धीमा विकेट था”।

बता दें, जो रूट ने इंग्लेंड टीम के लिए सीनियर खिलाड़ियों गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में डेब्यू करने वाले तेज गेंदबाज मैथ्यू पॉट्स के खेल जिसमें 4/13 और 3/55 शामिल हैं, इसकी प्रशंसा की। साथ ही विरोधी टीम के कप्तान केन विलियमसन को दो बार आउट करने के तरीकों के बारे में काफी तारीफ की।

Also Read ; Indian Team में इन 2 खिलाड़ियों चयन ना होने से खुश हैं ये दिग्गज, कहा- ‘इन्हें बाहर करना बहुत जरुरी था’