2 आईपीएल टीमें जिनसे आज तक एक भी IPL मैच नहीं जीत सकी रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस
2 आईपीएल टीमें जिनसे आज तक एक भी IPL मैच नहीं जीत सकी रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस

IPL (इंडियन प्रीमियर लीग) के इतिहास की सबसे सफल टीम है मुंबई इंडियंस, क्योंकि मुंबई इंडियंस ही ऐसी टीम है जो 5 बार आईपीएल के खिताब पर अपना कब्जा जमा चुकी है 2013, 2015, 2017, 2019 और 2020 में मुंबई इंडियंस आईपीएल ट्रॉफी को अपने नाम दर्ज करने का रिकॉर्ड बना चुकी है। आईपीएल के पहले सीजन 2008 से ही मुंबई इंडियंस आईपीएल में खेलती चली आ रही है। हालांकि पहले दो सीजनों के दौरान मुंबई इंडियंस प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रही, वहीं 2010 के सीजन के दौरान से वह रनरअप रही थी।

2011 और 2012 के सीजन के दौरान मुंबई इंडियंस टॉप 4 में जगह बनाने में तो कामयाब रही लेकिन ट्रॉफी जीतने में नाकाम साबित हुई।वहीं पॉइंट्स टेबल में सबसे निचले स्थान पर आईपीएल 2022 में रही थी। मुंबई इंडियंस द्वारा आईपीएल के इतिहास में सबसे अधिक बार खिताब पर अपना कब्जा जमाया गया है। लेकिन आईपीएल में दो फ्रेंचाइजियों को मुंबई इंडियंस हराने में कामयाब नहीं रही। आज हम आपको उन्हीं दो टीमों के बारे में इस आर्टिकल में बताएंगे जिन्हें मुंबई इंडियंस नहीं हरा सकी।

आईपीएल के दौरान लखनऊ सुपर जायंट्स को नहीं हरा सकी मुंबई इंडियंस


आईपीएल 2022 में लखनऊ सुपर जायंट्स द्वारा पहली बार हिस्सा लिया गया था। अपने पहले ही सीजन के दौरान शानदार प्रदर्शन करते हुए उनके द्वारा टॉप 4 में जगह बनाई गई। टीम की कप्तानी की बागडोर इस आईपीएल सीजन के दौरान स्टार भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल के कंधों पर थी।

उनकी कप्तानी के दौरान इस सीजन लखनऊ द्वारा मुंबई के खिलाफ दो मैच खेले गए,और दोनों में ही लखनऊ जीतने में कामयाब रहा। वहीं मुंबई इंडियंस आईपीएल 2022 में अच्छे प्रदर्शन को लेकर संघर्ष करते नजर आयी। पहले उन्हें लखनऊ द्वारा ब्रेबोर्न स्टेडियम में 18 रनों से हराया गया उसके बाद 36 रनों से वानखेड़े स्टेडियम में भी मात दी गई।

दोनों ही मैचों के दौरान केएल राहुल शतकीय पारियां खेलने में कामयाब रहे।आईपीएल 2022 के दौरान राहुल द्वारा 15 मैच खेले गए, जिनमें वह 135.38 के स्ट्राइक रेट की मदद से 616 रन बनाने में कामयाब रहे।

ALSO READ: Asia Cup 2022: विराट कोहली की वजह से खतरे में केएल राहुल की जगह, टी20 विश्व कप में ले सकते हैं उनकी जगह

नहीं हरा पाई कोच्चि टस्कर्स केरला को

2011 के आईपीएल के दौरान कोच्चि टस्कर्स केरला और पुणे वारियर्स इंडिया पहली बार आईपीएल सीजन में शामिल हुए थे। हालांकि अच्छा प्रदर्शन करने में दोनों ही फ्रेंचाइजी बुरी तरह से नाकाम साबित हुई। पुणे वारियर्स के खिलाफ तो मुंबई का रिकॉर्ड शानदार रहा, लेकिन वही कोच्चि टस्कर्स केरला के खिलाफ मुंबई को अपने एकमात्र मैच में हार का स्वाद चखना पड़ा। उस एकमात्र मैच में सचिन तेंदुलकर द्वारा शतक बनाया गया था।

मुंबई की टीम उनकी इस पारी की मदद से 20 ओवरों में 182 रनों का स्कोर बनाने में कामयाब रही थी। सचिन द्वारा मैच में 66 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 100 रन बनाते हुए नाबाद रहे। वही लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोच्चि टस्कर्स द्वारा 2 विकेट खोकर 19 ओवरों में लक्ष्य को हासिल किया गया। टीम की तरफ से सबसे अधिक रन ब्रेंडन मैकुलम द्वारा बनाए गए थे। 60 गेंद पर उन्होंने 81 रनों की पारी खेली थी।

अपनी इस पारी के दौरान उनके द्वारा 10 चौके और 2 छक्के लगाए गए थे। अगर मैकुलम के आईपीएल करियर की बात करें तो उनके द्वारा 109 मैच खेले गए, जिसमें 131.75 के स्ट्राइक रेट की मदद से वह 2880 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनके बल्ले से 2 शतक और 13 अर्धशतक नजर आए। वहीं दूसरी तरफ इस मास्टर ब्लास्टर के आईपीएल करियर की बात की जाए तो उनके द्वारा 78 मैच खेले गए और 119.82 के स्ट्राइक रेट से 2334 रन बनाने में कामयाब रहे। इसके साथ ही उनके नाम आईपीएल में 1 शतक और 13 अर्धशतक भी शामिल है।

Read Also:-लगान फिल्म का छोटा टीपू बड़ा होकर दिखने लगा है काफी हैंडसम, फिल्मी दुनिया से दूर करता है ये काम