आईपीएल 2022 का 21वाँ मैच सोमवार, 11 अप्रैल को नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में शाम 7.30 बजे से सनराइजर्स हैदराबाद और गुजरात टाइटंस के बीच खेला जाना है. इस मैच से पहले टूर्नामेंट में दोनों टीमों की स्थिति की बात करें हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली गुजरात टाइटंस की नई टीम बेहद मजबूत है.

अभी तक अपने 3 मैच खेल कर तीनों में जीत दर्ज कर चुकी गुजरात की टीम अंक तालिका में तीसरे नंबर पर है. वहीं दूसरी ओर हैदराबाद की टीम का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है और उसे अपने 4 मैचों में केवल 1 जीत मिली है तो 3 में हार का सामना करना पड़ा. इस लिहाज़ से इस मैच में दोनों टीम एक मजबूत शुरुआत करना चाहेंगी, इसी सिलसिले में इस आर्टिकल में हम नज़र डालेंगे सनराइजर्स हैदराबाद की संभावित सलामी जोड़ी के बारे में.

शर्मा और विलियमसन से ही पारी की शुरुआत करा सकती हैदराबाद की टीम

केन विलियासन अभिषेक शर्मा

इस मैच में हैदराबाद की सलामी जोड़ी के बारे में बात करें तो टीम मैनेजमेंट एक बार फिर से कप्तान केन विलियमसन और युवा भारतीय बल्लेबाज़ अभिषेक शर्मा की जोड़ी से पारी की शुरुआत करा सकता है. इस मैच में इन दोनों बल्लेबाज़ों से टीम को काफ़ी उम्मीदें होंगी.

हालांकि, अभी तक टूर्नामेंट में हैदराबाद की सलामी जोड़ी ज़्यादा बेहतर नहीं कर सकी. लेकिन इस मैच में अगर टीम को टूर्नामेंट की अपनी दूसरी जीत दर्ज करनी है तो इन दोनों की तरफ़ से बेहतरीन बल्लेबाज़ी की सख़्त ज़रूरत होगी. जिसके बाद अब ये देखना अहम होगा ये ओपनिंग जोड़ी टीम की उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाती है.

ALSO READ:IPL 2022: इस खिलाड़ी को तुरंत करो बैन, क्रिकेट के आस-पास भी नहीं आने देना चाहिए’ भड़के पूर्व कोच रवि शास्त्री

हैदराबाद के लिए इस मैच में जीत बेहद ज़रूरी

केन विलियमसन

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए आईपीएल 2021 से ज़्यादा कुछ हालात आईपीएल 2022 में भी बदले हैं. इस टूर्नामेंट 4 मैच खेल चुकी केन विलियमसन की कप्तानी वाली टीम ने अपने शुरुआती 3 मैच लगातार हारने के बाद केवल 1 जीत दर्ज की है.

इस लिहाज़ से हैदराबाद के लिए ये मैच टूर्नामेंट में अपनी उम्मीदों को मजबूती से ज़िंदा रखने के लिए बेहद अहम होगा. इसमें दिलचस्प बात ये है कि हैदराबाद का सामना इस टूर्नामेंट में अजेय रही हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली गुजरात टाइटंस से है.

ALSO READ:IPL 2022: इस खिलाड़ी को तुरंत करो बैन, क्रिकेट के आस-पास भी नहीं आने देना चाहिए’ भड़के पूर्व कोच रवि शास्त्री