ANIL KUMBLE

बीते गुरुवार ICC वर्ल्ड कप 2022 में भारत का सफर सेमीफाइनल में इंग्लैंड के हाथों हारने के बाद समाप्त हो गया। इसके बाद भारत के खिताबी सूखे का इंतजार और भी लंबा हो गया है। 

भारत की इस हार के बाद कई लोग अपनी टिपण्णी दे रहे हैं और इस बीच पूर्व क्रिकेटर और हेड कोच अनिल कुंबले ने भी अपनी राय दी है। कुंबले का मानना है कि भारतीय मैनेजमेंट को अब अपनी योजना में बदलाव करने की जरूरत है।

टीम इंडिया को पावरहिटर की है ज़रूरत

अनिल कुंबले का मानना है की आगे चलके ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का ही दबदबा रहेगा। अनिल कुंबले ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो डॉट कॉम’ से कहा, 

“मुझे लगता है कि ऐसा निश्चित रूप से किये जाने की जरूरत है, हम गेंदबाजों के बल्लेबाजी करने के बारे में बात करते रहते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि भारतीय क्रिकेट में आपको ऐसे बल्लेबाजों की जरूरत है जो टीम के संतुलन के लिये गेंदबाजी भी कर सकें।”

उन्होंने आगे कहा, 

“इंग्लैंड के पास यही चीज थी। उनके पास काफी ज्यादा विकल्प थे। उन्होंने लियाम लिविंगस्टोन का इस्तेमाल किया। मोईन अली ने मुश्किल से इस टूर्नामेंट में गेंदबाजी की है। इसलिये आपको इस तरह के विकल्पों की जरूरत होती है।”

ALSO READ: विश्व कप से बाहर होकर भी भारतीय खिलाड़ियों का जलवा कायम, प्लेयर द टूर्नामेंट की रेस में सबसे आगे हैं इंडियन

घरेलू क्रिकेट में भी बदलाव की जरूरत

अनिल कुंबले ने घरेलू क्रिकेट में बदलाव को मांग भी की और कहा,

“दुर्भाग्य से यहां तक भारत ए की जो टीम चुनी जाती है, उसमें ज्यादातर बल्लेबाज ऐसे हैं जो गेंदबाजी नहीं कर पाते। इसलिये महत्वपूर्ण है कि हम ऐसा क्रिकेट ब्रांड तैयार करें और इसे पूरी प्रक्रिया में शामिल किये जाने की जरूरत है।”

कुंबले ने आगे कहा, 

“मुझे लगता है कि जितना ज्यादा आप टी20 क्रिकेट खेलोगे, यह ऐसा होता जायेगा, जिसमें आप मैदान पर उतरते ही अपनी ताकत दिखाओगे। इसलिये मुझे लगता है कि टी20 आगे ऐसा ही होगा।”

इस विश्व कप में भारतीय टीम में कई ऐसे खिलाड़ी थे जिसे ऑस्ट्रेलिया में खेलने का अनुभव नहीं था वही दूसरी तरफ इंग्लैंड के खिलाड़ियों को बीबीएल में खेलने का अनुभव है। इसमें कप्तान जोस बटलर और सलामी बल्लेबाजी में उनके जोड़ीदार एलेक्स हेल्स भी शामिल है।

ALSO READ: T20 WC 2022: जिम्बाब्वे के खिलाफ हार को भूल गए क्या… ‘दो कौड़ी’ के पाकिस्तानी क्रिकेटर ले रहे हैं भारतीय टीम के मजे