IND VS SA: दक्षिण अफ्रीका से मिली हार के बाद ऋषभ पंत पर फूटा जहीर खान का गुस्सा, पंत के इस फैसले को माना हार का जिम्मेदार

भारतीय क्रिकेट टीम और साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के बीच बीती रात पहला टी20 कैच खतम हुआ। इस मैच में भारतीय क्रिकेट टीम को 7 विकेट से हार का समाना करना पड़ा। टीम के 211 रन बनाने के बाद भी विरोधी टीम ने निर्धारित 20 ओवर्स से पांच गेंद पहले ही लक्ष्य हासिल कर लिया। जिसके बाद भारतीय क्रिकेट टीम के पहले मैच में हार का आंकलन करने पर कई कारण नजर आते हैं। लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी जहीर खान ने ऋषभ पंत के एक फैसले पर आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि उन्होंने युजवेंद्र चहल को पूरे ओवर गेंदबाजी क्यों नहीं दी है?

युजवेंद्र चहल को ओवर ना देने पर जताई नाराजगी

 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी जहीर खान ने बीती रात खेले गए मैच में युजवेंद्र चहल को अंतिम ओवर ना देने पर सवाल उठाए हैं। जहीर खान ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा कि अक्षर पटेल के स्थान पर युजवेंद्र चहल को गेंदबाजी देनी चाहिए थी। कई बार हम सभी ने भारतीय टीम में देखा है कि युजवेंद्र चहल ने भारतीय टीम की मैच में वापसी कराई है। ऋषभ पंत को इस बात पर गौर करना होगा और साथ ही टीम मैनेजमेट भी उसने इस बारे में बातचीत करेगा।

जाहिर खान ने कहा,

” निश्चित रूप से युजवेंद्र चहल को पूरे ओवर ना देना ऐसा है जिसको ऋषभ पंत को देखना होगा और टीम मैनेजनेट को भी उनसे इस बात पर बातचीत करनी होगी। हम सभी ने कई बार खराब दिन पर युजवेंद्र चहल को वापसी करते हुए देखा है। युजवेंद्र चहल के पास मैच में वापसी करते हुए सफलता दिलाने की क्षमता है। ये हो सकता है कि अक्षर पटेल के आखिरी ओवर ने ऋषभ पंत को ये संकेत दिया हो कि अब स्पिन गेंदबाजी का विकल्प नही है”।

Also Read :IND vs SA: भारत की हार के साथ ही आई एक और बुरी खबर, केएल राहुल और कुलदीप के बाद ये खिलाड़ी भी हुआ बाहर

मैच की हार का कारण गेंदबाजी को बताया

 

जाहिर खान ने मैच में गेंदबाजी और ऋषभ पंत की कप्तानी पर बात करते हुए कहा कि,

“भारतीय क्रिकेट टीम में मैच को जिताने के लिए नए नए बल्लेबाजों को मैदान कर लाने की जरूरत है। ये एक ऐसी कॉल है जोकि आपके हाथ में भी है। ये हो सकता है कि अक्षर पटेल के आखिरी ओवर ने ऋषभ पंत को ये संकेत दिया हो कि अब स्पिन गेंदबाजी का विकल्प नही है। दक्षिण अफ्रीका को 10 ओवर्स में 12.50 रनरेट की जरूरत थी। हमें उम्मीद थी कि ये ऊपर जाएगा। जब रनरेट 14-15 के आसापास पहुंच जाता है। तब गुच्छों में विकेट निकलते हैं। जिससे दबाव बनाता है। लेकिन भारतीय गेंदबाज ऐसा करने में नाकाम रहें हैं”।

याद दिला दे, युजवेंद्र चहल में आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए डेथ ओवर्स में गेंदबाजी की है। जिससे उनके पर अनुभव था। इस विषय पर टीम मैनेजमेंट कप्तान ऋषभ पंत से चर्चा जरूर करेगा।

Also Read : IND vs SA: साउथ अफ्रीका की जीत के बाद कप्तान टेंबा बावुमा ने इन खिलाड़ियों को दिया जीत का श्रेय, भारत के लिए किया कुछ ऐसा जीता 130 करोड़ भारतीयों का दिल