IND vs AUS: दूसरे मैच से पहले सुनील गावस्कर ने बताई टीम इंडिया की बड़ी कमज़ोरी, इसको ठीक नहीं किया तो दूसरा मैच भी....
IND vs AUS: दूसरे मैच से पहले सुनील गावस्कर ने बताई टीम इंडिया की बड़ी कमज़ोरी, इसको ठीक नहीं किया तो दूसरा मैच भी....

टीम इंडिया आज ऑस्ट्रेलिया से तीन मैचों की टी20 सीरीज़ का दूसरा मैच नागपुर में खेलेगी. इस मैच में रोहित शर्मा और टीम के सामने करो या मरो की स्थिति है. सीरीज़ में बने रहने के लिए टीम इंडिया को इस मैच को हर हालत में जीतना ही होगा.

पहला मैच टीम इंडिया ने 4 विकटों और एक बड़ा टोटल होने के बाद गवा दिया था. पहले मैच में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 208 रन बनाए थे, जिसे भारतीय बॉलर्स डिफेंड करने में नाकाम रहे थे. टीम इंडिया की इस कमज़ोरी पर पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर(SUNIL GAVASKAR) ने बात की.

एशिया कप में भी थी कमज़ोरी

हालही में खेले गए एशिया कप में भारतीय टीम में ये कमज़ोरी दिखाई दी थी. जहां, टीम बड़े टोटल डिफेंड करने में नाकाम रही थी. पाकिस्तान के खिलाफ टीम 182 रनों का टोटल डिफेंड नहीं कर पाई थी. वहीं, श्रीलंका के खिलाफ भी टीम ने टोटल डिफेंड करते हुए मैच गवाया था. इस बात को सुनील गावस्कर(SUNIL GAVASKAR) ने अपनी राय पेश की है.

ALSO READ:बाबर आजम को पीछे छोड़ आईसीसी रैंकिंग में सूर्यकुमार यादव ने मचाया तहलका, हार्दिक पंड्या के नाम की भी है धूम

ये है टीम की कमज़ोरी

सुनील गावस्कर(SUNIL GAVASKAR) ने इस बारे में स्पोट्स तक पर बात करते हुए कहा, “ये भारत की कमजोरी है. कोई नई समस्या नहीं है. स्कोर का बचाव करने के दौरान पिछले कुछ सालों से ये अस्तित्व में है. उन्हें बुमराह के बिना ये मुश्किल लगता है. जब वह होता है, तो स्कोर को डिफेंड किया जा सकता है, लेकिन बिना उसके, वे 200 से ज्यादा टोटल का भी बचाव नहीं कर सके. हमें इसका समाधान देखना होगा. नहीं तो आगे जाकर यह उन्हें चोट पहुंचा सकता है.”

टारगेट पीछा करके हासिल करती है जीत

सुनील गावस्कर ने आगे बात करते हुए कहा, “उसके (बुमराह) फिटनेस के बारे में मुझे लगता है कि वह टीम का महत्वपूर्ण सदस्य है और मैनेजमेंट चाहता है कि वह पूरी तरह से फिट हो तभी प्लेइंग इलेवन में चुना जाए. शायद वो नागपुर में खेले और शायद नहीं. लेकिन एक चीज है जब टीम इंडिया टारगेट का पीछा करती है तो जीतती है. लेकिन दूसरी तरफ ये उलटा है. जो गेंदबाजी 16 से 20 ओवर के बीच चाहिए होती है, वो नहीं है.”

ALSO READ:5 क्रिकेटर जिनकी काबिलयत के अनुसार नहीं दिया गया मौका, बल्कि उनके प्रतिभा को कुचला गया, लिस्ट में 2 भारतीय