सुहागरात के दिन गौरी खान को छोड़ हेमा मालिनी के पास चले गये थे शाहरुख खान, पूरी रात इंतजार करती रही गौरी
सुहागरात के दिन गौरी खान को छोड़ हेमा मालिनी के पास चले गये थे शाहरुख खान, पूरी रात इंतजार करती रही गौरी

बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाहरुख खान अपनी अपकमिंग फिल्म ‘पठान’ और ‘जवान’ को लेकर सुर्खियों में हैं। कई दशकों से बॉलीवुड इंडस्ट्री में राज करने वाले किंग खान  यहां तक पहुंचने के लिए दिन रात एक कर दिया। शाहरुख की कहानी काफी संघर्षों से भरी हुई है। उन्हें अपने काम और पर्सनल लाइफ में बहुत ज्यादा ही संघर्ष करना पड़ा था।

उन्हें अपना प्यार पाने यानी गौरी को पाने के लिए सड़क पर भीख तक माननी पड़ी थी। आखिरकार उनकी सच्ची मोहब्बत ने गौरी से उनको मिलवा ही दिया और शाहरुख और गौरी ने तीन बार तीन रिवाजों से शादी की।

सुहागरात के दिन गौरी खान, शाहरुख खान से हुई थी अलग

shahrukh khan and hema malini

बता दें कि काफी संघर्षों के बाद शाहरुख खान ने गौरी खान से शादी की लेकिन शादी की पहली ही रात यानी सुहागरात में शाहरुख खान और गौरी खान अलग हो गए। इन दोनों ने अलग अलग रहकर रात गुजारी। बता दें कि शाहरुख खान ने गौरी से उस टाइम शादी की थी, जिस समय शाहरुख खान अपने करियर में सेटल नहीं थे।

हालांकि की शादी के बाद शाहरुख का संघर्ष रंग लाया और देखते ही देखते शाहरुख एक चमकता सितारा बन गये। जिस वक्त शाहरुख ने गौरी से शादी की थी उस वक्त वह फिल्म आशना की शूटिंग कर रहे थे इस फिल्म को हेमा मालिनी प्रोड्यूस कर रही थीं और हेमा ने शाहरुख को उनकी शादी की पहली रात को ही काम पर बुला लिया।

shahrukh khan and gauri khan

हेमा ने कॉल किया और बोला कि जल्दी सेट पर पहुंच जाओ। बता दें कि उस टाइम हेमा शाहरुख खान को धर्मेंद्र से मिलना चाहती थी। शाहरुख भी अपनी शादी की रस्मों को खत्म करने के बाद सेट कर गए और अपने काम में व्यस्त हो गये। वहीं गौरी खान शाहरुख खान के आने का इंतजार करती रही शादी की पहली रात गौरी सज धज कर हाथों में मेहंदी और चूड़ा पहने हुए शाहरुख का इंतजार करने लगीं।

लेकिन शाहरुख को अपने काम से समय नहीं मिल पाया और वह नहीं आ सके। जिसके बाद गौरी शाहरुख का इंतजार करते-करते अकेले ही कुर्सी पर बैठी बैठी सो गई मई काम खत्म करने के बाद सुबह शाहरुख 6:00 बजे घर वापस आए।

ये भी पढ़ें-इतनी टाइट ड्रेस पहनकर अपने चाचा के घर पहुंची जाह्नवी कपूर, बार-बार नीचे से उपर तक देख रहे थे लोग