जिम्बाब्वे छोड़ दूसरे देशों के लिए खेलते हैं ये 5 खिलाड़ी, अगर अपने देश का होते हिस्सा तो भारत नहीं जीत सकता था सीरीज
जिम्बाब्वे छोड़ दूसरे देशों के लिए खेलते हैं ये 5 खिलाड़ी, अगर अपने देश का होते हिस्सा तो भारत नहीं जीत सकता था सीरीज

Zimbabwe (जिंबाब्वे) भारत और ऑस्ट्रेलिया जैसी टॉप टीमों को हार का स्वाद चखाने में कामयाब रहा है। हमेशा से ही जिंबाब्वे क्रिकेट टीम में बड़ा उलटफेर करने की क्षमता मौजूद रही है। लेकिन कुछ कारणों के चलते जिंबाब्वे टीम अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन कर पाने में नाकाम साबित हुई। इसके साथ साथ जिंबाब्वे क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप और प्रमुख इवेंट्स के दौरान भी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाने में नाकाम साबित हुई।

कुछ फैंस ऐसा भी सोचते हैं, कि जिंबाब्वे टीम के कुछ प्रतिभाशाली खिलाड़ी बेहतर अवसर मिलने पर विकसित देशों की क्रिकेट टीमों में खेलने के लिए जिंबाब्वे छोड़ने का फैसला भी कर लेते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको इस आर्टिकल के जरिए जिंबाब्वे मूल के ऐसे पांच खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जो अपने देश को छोड़कर दूसरे देश के लिए खेलते हैं।

सैम करन

बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों में से एक सैम करन अभी इंग्लैंड में शीर्ष पर मौजूद है। उनके पिता केविन करन जिंबाब्वे टीम की तरफ से ही खेलते थे, इसलिए बाएं हाथ का यह गेंदबाजी ऑलराउंडर जिंबाब्वे टीम की तरफ से खेल सकता था। लेकिन सैम करन ने स्वयं के खेलने के लिए इंग्लैंड को चुना।

दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर द्वारा इंग्लैंड के लिए 11 वनडे मैच खेले गए ,और 472 के इकॉनामी रेट की सहायता से 9 विकेट लेने में कामयाब रहे। वही उनके द्वारा बल्लेबाजी करते हुए 287 रन बनाए गए।

सैम करन के इंटरनेशनल करियर की बात करें तो उनके द्वारा इंग्लैंड के लिए तीनों फॉर्मेट में कुल मिलाकर अभी तक 61 मैच खेले जा चुके हैं। साथ ही 79 विकेट भी लेने में कामयाब रहे है। वही बल्लेबाजी के दौरान उनके द्वारा 1,118 रन बनाए गए।

टॉम करन

इस लिस्ट में एक और तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर टॉम करन जोकि सैम करन का भाई है, अपनी जगह बनाने में कामयाब रहा। टॉम और सैम इन दोनों का बेन नाम का एक भाई भी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बेन जिंबाब्वे में घरेलू क्रिकेट खेलते नजर आते हैं। लेकिन एक दिन उनके द्वारा इंग्लैंड के लिए खेलने की योजना बनाई जा रही है।

इस दाएं हाथ के तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर के वनडे करियर की अगर बात करें तो उनके द्वारा 30 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले जा चुके हैं, जिसमें वह 9.26 के इकॉनामी रेट से 29 विकेट लेने में कामयाब रहे हैं।

वहीं उनके द्वारा 13 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 64 रन भी बनाए जा सके। इंग्लैंड को 2 टेस्ट मैचों में रिप्रेजेंट करते हुए टॉम द्वारा 2 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई गई।वही बल्लेबाजी के दौरान वह अपने अकाउंट में 6 रन जोड़ने में कामयाब रहे।

ALSO READ: 6,6,6,6,6,6 प्रीति जिंटा का यह बल्लेबाज जमकर मचा रह है तबाही, 61 गेंदों में ठोके 112 रन, एशिया कप में चुनकर भारत ने की गलती

कॉलिन डी ग्रैंडहोम

अपने अंडर-19 दिनों में न्यूजीलैंड के हरफनमौला खिलाड़ी कॉलिन डी ग्रैंडहोम जिंबाब्वे की तरफ से खेले थे, लेकिन कुछ दिनों बाद न्यूजीलैंड जाने के बाद यह आलराउंडर न्यूजीलैंड की तरफ से ही खेलने लगा। वह अपनी कीवी टीम के लिए अब तक 45 वनडे मैच खेल चुके हैं, जिसमें 26.5 की औसत की सहायता से 742 रन बनाने में कामयाब रहे हैं।

इस दौरान उनके बल्ले से 4 अर्धशतक नजर आए, वहीं गेंदबाजी के दौरान उनके द्वारा 4.77 की इकॉनामी रेट की सहायता से 30 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया गया।कीवी टीम के लिए ग्रैंडहोम 41 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं। जिनमें 137.81 के स्ट्राइक रेट की सहायता से 503 रन बनाने में कामयाब रहे हैं। वहीं गेंदबाजी के दौरान उनके द्वारा 8.62 की इकॉनामी रेट की सहायता से 12 विकेट हासिल किए गए।

इसके अतिरिक्त उनके द्वारा न्यूजीलैंड को 29 टेस्ट मैचों में रिप्रेजेंट करते हुए 38.7 की औसत की सहायता से 1432 रन बनाए गए ‌। वहीं गेंदबाजी के दौरान उनके द्वारा 49 विकेट अपने नाम दर्ज किए गए।

ALSO READ: Asia Cup 2022: इन पांच भारतीय खिलाड़ियों से खौफ खाती है पाकिस्तान की टीम, एशिया कप में तोड़ देंगे पाक का घमंड

ग्रीम हिक

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए खेलने वाले ग्रीम हिक एक शानदार बल्लेबाज थे। ग्रीम हिक इंग्लिश टीम में शामिल होने से पहले जिंबाब्वे की तरफ से भी खेले थे।

हिक के वनडे करियर के दौरान उनके द्वारा 120 मैच खेले गए, जिसने वह 37.34 की औसत की सहायता से 3846 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनके द्वारा 5 शतक और 27 अर्धशतक भी लगाए गए। इसके अतिरिक्त वह 65 टेस्ट भी खेल चुके हैं। 31.32 की औसत की सहायता से वह 3383 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनका बल्ला 6 शतक और 18 अर्धशतक बनाने में भी कामयाब रहा।

गैरी बैलेंस

गैरी बैलेंस भी अपने देश की टीम के लिए ना खेल कर इंग्लैंड के लिए खेले थे। लेकिन अब निकट भविष्य में उनके द्वारा जिंबाब्वे मे वापस आने पर विचार किया जा रहा है। इंग्लैंड की तरफ से गैरी बैलेंस द्वारा काफी टेस्ट मैच खेले गए। भारत के खिलाफ उनके द्वारा हर बार बेहद शानदार प्रदर्शन किया गया था। लेकिन अब टीम ने उनकी वह जगह नहीं बन पा रही है।

ALSO READ:-पत्नी से हो गया है तलाक तो फिर शिखर धवन को किसने दी जिम्बाब्वे दौरे पर LOVE BITES, क्रिकेटर की पर्सनल तस्वीर हुई लीक, देखें फोटो