Ind Vs Eng: रोहित शर्मा को वापस कप्तानी सौंप कर क्या खुश है बुमराह? जवाब देकर सबको चौकाया
Ind Vs Eng: रोहित शर्मा को वापस कप्तानी सौंप कर क्या खुश है बुमराह? जवाब देकर सबको चौकाया

भारतीय क्रिकेट टीम और इंग्लैंड क्रिकेट टीम के बीच पांच दिन का टेस्ट मैच खेला गया। चार दिन के पूरे खेल के बाद मैच पांचवे दिन की शुरुआत में इंग्लैंड टीम के पक्ष चला गया। इंग्लैंड टीम ने न्यूजीलैंड को सीरीज हराने के बाद भारतीय टीम को ये रीशेड्यूल मैच सात विकेट से हराया। इस मैच में हार के बाद भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज 2-2 से बराबर रही।

टीम के नियमित कप्तान रोहित शर्मा के Covid पॉजिटिव होने के कारण जसप्रीत बुमराह ने कप्तानी की। हार के बाद अस्थाई कैप्टन जसप्रीत बुमराह ने कहा कि दोनों टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया। जसप्रीत बुमराह ने पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में दो विकेट लिए है। ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा की भी तारीफ की। साथ ही कप्तानी के अनुभव को शानदार बताया।

3 दिन अच्छा जाने के बाद भी मिली हार- बुमराह

Ind Vs Eng, WTC Point Table: हार के बाद पॉइंट टेबल में हुई भारत की स्थिति खराब, अब फाइनल के लिए जीतने होंगे इतने मैच

भारतीय क्रिकेट टीम के इंग्लैंड के खिलाफ कप्तान जसप्रीत बुमराह ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में ये ही सबसे बड़ी चीज है कि तीन दिन तक खेल आपके पक्ष में होने के बाद भी हार मिल सकती है। जसप्रीत बुमराह ने कहा,

“मैं इससे बहुत आगे नहीं जाऊंगा (खुद को ऑलराउंडर कहने के लिए)। टेस्ट क्रिकेट की यही खूबी है, भले ही आपके पास तीन अच्छे दिन हों। हम कल बल्ले से कम पड़ गए और यहीं हमने विपक्षी टीम को मैच को हमसे दूर जाने दिया। अगर और लेकिन हमेशा हो सकते हैं। अगर आप पीछे जाते तो पहले मैच में बारिश नहीं होती तो हम सीरीज जीत सकते थे। लेकिन इंग्लैंड ने वास्तव में अच्छा खेला। हमने सीरीज ड्रा कर दी है और दोनों टीमों ने बहुत अच्छा क्रिकेट खेला और यह एक उचित परिणाम था”।

Also Read : Ind Vs Eng: ‘वो हमे डराने की कोशिश कर रहे थे..’ मैन ऑफ द मैच’ जॉनी बेयरस्टो ने इस खिलाड़ी को बताया असली हीरो

पंत कर जडेजा की तारीफ की

जसप्रीत बुमराह ने रविंद्र जडेजा और ऋषभ पंत के खेल की काफी तारीफ की। दिनों खिलाड़ियों में पहली पारी में 100 रन के अंदर विकेट गिर जाने के बाद शतक बनाया है। जसप्रीत बुमराह ने कहा,

“ऋषभ पंत ने चांस लिया। उन्होंने और जड्डू ने अपने जवाबी हमले से हमें खेल में वापस ला दिया। हम खेल में आगे थे। वह अपने मौके लेता है, खुद का समर्थन करता है और उसके लिए बहुत खुश होता है। द्रविड़ हमेशा हमारा मार्गदर्शन करने और हमारा समर्थन करने के लिए मौजूद हैं। हम अपनी गेंदबाजी लाइन में थोड़ा सख्त हो सकते थे और परिवर्तनशील उछाल का इस्तेमाल कर सकते थे। कप्तानी का भविष्य वह नहीं है जो मैं तय करता हूं। मुझे जिम्मेदारी पसंद है। यह एक अच्छी चुनौती थी, एक नई चुनौती। टीम का नेतृत्व करना सम्मान की बात थी और एक शानदार अनुभव रहा है”।

Also Read : Ind Vs Eng, WTC Point Table: हार के बाद पॉइंट टेबल में हुई भारत की स्थिति खराब, अब फाइनल के लिए जीतने होंगे इतने मैच