ben stokes team india
बेन स्टोक्स

Ben Stokes: भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली है. रांची में खेले गए चौथे टेस्ट मैच में भारत (Team India) ने 192 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 5 विकेट गंवा कर जीत दर्ज की. दूसरी ईनिंग में रोहित शर्मा और शुभमन गिल (Rohit Sharma and Shubman Gill) की अर्द्धशतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम (Indian Cricket Team) चौथा मैच जीतने में कामयाब रही. मैच के बाद बेन स्टोक्स (Ben Stokes) नाराज दिखे. उन्होंने कहा कि हमें पिच से कोई भी शिकायत नहीं है.

Ben Stokes ने हार के बाद इन्हें ठहराया जिम्मेदार

बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने मैच के बाद कहा,

‘अब तक सभी 4 टेस्ट की पिचें अच्छी रही हैं. हमें पिच से कोई शिकायत नहीं, विकेट बहुत अच्छे रहे हैं और 4 नतीजे आए. आप सीरीज में आते हैं और जाहिर तौर पर जीतना चाहते हैं. आप क्रिकेट के खेल को जीतना चाहते हैं. लेकिन ये यह इसबात पर निर्भर करता है कि टीम कैसा परफॉर्म कर रही है.’

बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने आगे कहा कि

‘मुझे लगता है कि अब तक इस सीरीज ने न केवल हमारे लिए, बल्कि भारत के लिए भी बहुत सारी प्रतिभाएं सामने लाई हैं. मैं क्रिकेट का बहुत बड़ा फैन हूं, मुझे सच में टेस्ट क्रिकेट पसंद है.’

भारत ने सीरीज में बना ली है 3-1 की बड़ी बढ़त

भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 177 रन पर अपने 7 विकेट गंवा चुकी थी. यहां से एक भी विकेट गिरने का मतलब था. टीम इंडिया मेहमान टीम से खिलाफ बड़े अंतर से पिछड़ जाती. कुलदीप यादव ने ध्रुव जुरेल के साथ मिलकर 8वें विकेट के लिए 76 रन की साझेदारी कर डाली.

131 गेंद का सामना करते हुए 2 चौके की मदद से 28 रन बनाए. कुलदीप यादव की पारी ने मैच का पासा पलट दिया. इंग्लैंड महज 46 रन की बढ़ ले पाया और मैच उनके हाथ से फिसल गया.

रोहित शर्मा ने दूसरी ईनिंग में उन्होंने भारत को शानदार शुरुआत दिलाई. रोहित ने 81 गेंदों में कुल 55 रन की पारी खेली. अपनी पारी के दौरान रोहित ने 5 चौके और 1 छक्का लगाया.

वहीं, शुभमन गिल ने दूसरी पारी में भारत के लिए बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 124 गेंदों में कुल 52 रन बनाए. अपनी पारी के दौरान गिल ने 2 छक्के भी लगाए. पहली पारी में गिल ने 38 रन बनाए थे. इस तरह भारत ने 5 मैचों की सीरीज अपने नाम कर ली.

ALSO READ: Rohit Sharma ने किया साफ इन खिलाड़ियों के लिए बंद हुए टीम इंडिया के दरवाजे, अब संन्यास ही बचेगा आखिरी रास्ता