BABAR AZAM DECISION

क्रिकेट का मैदान एक ऐसा मैदान है। जहां पर आपको बहुत सारा संयम माहौल के हिसाब से अग्रेशन दोनों ही चीजों का बैलेंस बना कर चलना होता है। लेकिन अगर यह दोनों ही चीजें बिगड़ जाए तो आपक खेल अपने आप ही बिगड़ जाता है। अब ऐसा ही कुछ देखने को मिला है पाकिस्तान टीम के कप्तान बाबर आजम के साथ हालांकि इस बात में तो किसी भी तरीके की कोई दो राय नहीं है। कि बाबर आजम दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक है लेकिन बतौर कप्तान उन्होंने कुछ इस तरह के फैसले लिए हैं।

शोएब अख्तर ने चयनकर्ताओं को माना जिम्मेदार

जिससे पाकिस्तान टीम को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। हालांकि इन सबके बीच में बड़ी बात यह है कि T20 जीतने की प्रबल दावेदार पाकिस्तान की टीम को लगातार दोनों ही मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। खासतर से जिंबाब्वे के खिलाफ मिली हार को पाकिस्तान की टीम पचा नहीं पा रही है।

वहीं पाकिस्तान टीम को मिली हार के बाद शोएब अख्तर मैं बाबर आजम के साथ-साथ टीम सिलेक्टर्स पर भी खूब अपना गुस्सा निकाला है। तो चलिए आपको बताते हैं बाबा राजन की उन गलतियों के बारे में जिनकी वजह से बार-बार पाकिस्तान टीम को हार का सामना करना पड़ा है।

Read More : भारत की लगातार जीत के बाद बाबर आजम को लगी मिर्ची, कहा अब पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल

बाबर आजम की खराब कप्तानी

बाबर आजम की खराब कप्तानी भी पाकिस्तान की हार का एक सबसे बड़ा कारण बनी है। भले ही बाबर एक अच्छे बल्लेबाज हैं लेकिन बतौर कप्तान को खेल को नहीं समझ पाए। बाबर आजम ने भारत के खिलाफ मोहम्मद नवाज से आखरी ओवर डलवाया था। और ऐसा ही वह विश्वकप में भी कर चुके हैं जिसके बाद भी उन्होंने अपनी गलती से कुछ भी नहीं सीखा।

ओपनिंग जोड़ी में नहीं किया बदलाव

पाकिस्तान के कई पूर्व खिलाड़ी लगातार एक ही बात को बार-बार दोहरा रहे हैं। और अभी हाल ही में शोएब अख्तर ने भी इस बात को लेकर के खूब बाबर आजम को खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा है कि बाबर आजम ने अपनी ओपनिंग जोड़ी में किसी भी तरीके का कोई बदलाव नहीं किया, मोहम्मद रिजवान के साथ वह रन तो बनाते हैं, लेकिन रन रेट काफी धीमा रहता है, लेकिन बाबर ने किसी एक की भी नहीं चलने दी।

आपको बता दें कि जब बाबर आजम T20 में पकड़ जमा के साथ ओपनिंग करने के लिए मैदान में उतरे तो उनका औसत 57 का था लेकिन जब वह रिजवान के साथ ओपन करते हैं तो उनका औसत सिर्फ 32 का रहता है।

मिडिल ऑर्डर में भी नहीं किया किसी भी तरीके का कोई बदलाव

पाकिस्तान की टीम लगातार मिडिल ऑर्डर को लेकर के सवालों के घेरे में खड़ी हुई है । क्योंकि पाकिस्तान टीम की सबसे कमजोर कड़ी ही मर्डर लोर मानी जाती है। उन्होंने ऐसे खिलाड़ियों को मौके दिए जिनके पास ना तो बहुत ज्यादा अनुभव है और ना ही टैलेंट।

इसके बावजूद भी बार-बार दिग्गजों के कहने पर भी खिलाड़ी ने अपनी जिद नहीं छोड़ी जिसकी वजह से उनका मर्डर लोडर एक बार फिर से बुरी तरह से फ्लॉप साबित हुआ।

ALSO READ: ICC ने बताया अभी भी कैसे सेमीफाइनल में पहुंच सकती है बाबर की सेना, समझिए आईसीसी का पूरा समीकरण

दोस्तों को दिया टीम में स्थान

पाकिस्तान टीम में कई सारे ऐसे खिलाड़ी हैं जो फिट है लेकिन इसके बावजूद भी बाबर आजम उन पर ध्यान नहीं देते हैं। कहा तो यह भी जाता है कि बाबर आजम इन खिलाड़ियों पर इसलिए ध्यान नहीं देते हैं, क्योंकि इन प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के उनके साथ संबंध अच्छे नहीं हैं।

जिसकी वजह से इन खिलाड़ियों के फिट होने के बावजूद भी इनको टीम में शामिल नहीं किया गया और यह यारी दोस्ती के चलते लगातार पाकिस्तान टीम को हार का सामना करना पड़ रहा है।

Read More : PAK vs ZIM: “ये बस ऑस्ट्रेलिया घूमने और हार के बाद रोने आए हैं” जिम्बाब्वे से मिली हार के बाद पाकिस्तानी फैंस ने ही अपने देश का बनाया मजाक