सूर्यकुमार यादव ने मैच के बाद खोला राज, केएल राहुल के आउट होने के बाद मैदान पर जाते विराट से हुई ये बात और खेल दी विस्फोटक पारी
सूर्यकुमार यादव ने मैच के बाद खोला राज, केएल राहुल के आउट होने के बाद मैदान पर जाते विराट से हुई ये बात और खेल दी विस्फोटक पारी

टीम इंडिया ने टी20 Asia Cup 2022 के सुपर-4 में जगह पक्की कर ली है। उसने पहले मुकाबले में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया था। गुरुवार ने टीम ने अपने दूसरे मुकाबले में हॉन्गकॉन्ग को 40 रन से हराया। 

भारत के आगे हॉन्ग कॉन्ग ने टेके घुटने

हॉन्गकॉन्ग ने टाॅस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया था। भारत ने पहले खेलते हुए 2 विकेट पर 192 रन का बड़ा स्कोर बनाया था। सूर्यकुमार यादव 26 गेंद पर 68 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने 6 चौके और 6 छक्के लगाए। 

विराट कोहली ने भी 44 गेंद पर नाबाद 59 रन बनाए। एक चौका और 3 छक्के भी लगाए। जवाब में हॉन्गकॉन्ग की टीम 5 विकेट पर 152 रन ही बना सकी। बाबर हयात ने सबसे अधिक 41 रन बनाए। 

इसके अलावा किंचित शाह ने भी 30 रन बनाए। स्कॉट मैक्कनी 16 और जीशान अली 26 रन बनाकर नाबाद रहे। आवेश खान महंगे साबित हुए। उन्होंने 4 ओवर में 53 रन दिए और एक विकेट लिया। सूर्यकुमार और कोहली ने 7 ओवर में 98 रन की नाबाद साझेदारी की। टीम ने अंतिम 5 ओवर में 78 रन बटोरे। 

ALSO READ: Asia Cup 2022: 13वें ओवर तक मैच हमारी पकड़ में था और फिर वो आया……हांगकांग के कप्तान निजाकत खान ने इन्हें माना हार का जिम्मेदार

सूर्यकुमार यादव बने प्लेयर ऑफ द मैच

कप्तान रोहित शर्मा और कोच द्रविड़ को नजरअंदाज कर सूर्यकुमार यादव ने इन्हें दिया अपनी तूफानी पारी का श्रेय

भारत की जीत में सूर्यकुमार यादव का अहम योगदान रहा और उन्हे प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया। मैच के बाद उन्होंने बताया कि वह अपने कुछ शॉट्स पहले से ही सोचे हुए रहते हैं। उन्होंने कहा,

“मेरे कुछ शॉट पहले से ही सोचे हुए होते हैं। यह प्रारूप इस बारे में है कि आप क्या सोचते हैं और बल्लेबाजी के लिए जाने से पहले आप कैसे तैयारी करते हैं। साथ ही आपको वर्तमान में भी रहना है। मुझे लगा कि विकेट थोड़ा धीमा है। मेरी योजना स्पष्ट थी। मेरी भूमिका थी, मैदान पर जाकर बड़े शॉट लगाऊं। बस खुद को व्यक्त करना था और यह मुझे पसंद आया।”

ALSO READ: Asia Cup 2022: भारत की जीत से भी खुश नहीं हैं कप्तान रोहित शर्मा, बताई अपनी ही टीम की कमियां, ऐसा रहा तो फाइनल में पहुंचना मुश्किल