ARJUN TENDULKAR

अर्जुन तेंदुलकर इस समय घरेलू क्रिकेट में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. अर्जुन तेंदुलकर पर हमेशा से कुछ क्रिकेटर एक्सपर्ट्स के निशाने पर रहते है. क्रिकेट एक्सपर्ट्स का कहना होता है कि अर्जुन तेंदुलकर को खेलने का मौका सिर्फ इसलिए मिल रहा है क्योंकि वह सचिन तेंदुलकर के पुत्र हैं, लेकिन सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी और विजय हजारे ट्राॅफी में अर्जुन तेंदुलकर ने कमाल का प्रदर्शन करके उन्होंने सबका मुंह बंद कर दिया है.

विजय हजारे ट्राॅफी में हरियाणा के खिलाफ उन्होंने पहले बल्ले से और फिर गेंदबाजी से भी विकेट झटक टीम इंडिया में एंट्री का दावा ठोक दिया है.

हरियाणा के खिलाफ किया कमाल

अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) ने विजय हजारे ट्रॉफी के मुकाबले में हरियाणा के खिलाफ दसवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 6 गेंदों में 1 चौके और 1 छक्के की मदद से 14 रन बनाने के साथ 1 विकेट भी चटकाये.

अर्जुन तेंदुलकर को जितना मौका मिल रहा है वह उतने में ही अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास कर रहे हैं. पिता सचिन तेंदुलकर के होने से उन पर अतिरिक्त दबाव है लेकिन वह इसे भुलकर बढिया प्रदर्शन कर रहे हैं यह देखकर हर क्रिकेट प्रेमी खूश है.

ALSO READ:बीच टूर्नामेंट में कप्तानी छिनने पर मैच से पहले छलका शिखर धवन का दर्द, कहा- ‘मुझे पता होता तो कप्तानी नही लेता..’

विजय हजारे ट्राॅफी में छा रहे

विजय हजारे ट्रॉफी में अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) ने अपनी तेज गेंदबाजी से सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया है. अबतक उन्होंने इस टूर्नामेंट के 7 मुकाबलों में 8 विकेट चटकाने के साथ 25 रन भी बना चुके हैं. अगर बात करे लिस्ट-ए कि तो अर्जुन तेंदुलकर ने शानदार प्रदर्शन किया है.

उन्होंने 9 मैचों में 6.60 की इकोनॉमी रेट से 12 विकेट अपने नाम किया है, जिसमें एक बार उनके नाम 4 विकेट भी शामिल है. अर्जुन तेंदुलकर के इस प्रदर्शन को देखते हुए उम्मीद किया जा रहा है कि एक तेज गेंदबाज ऑलराउंडर के तौर पर टीम इंडिया में उनकी जल्द एंट्री हो सकती है. देखना दिलचस्प होगा कि आईपीएल में रोहित शर्मा को उनको एक भी मैच में मौका देते हैं या नही.

ALSO READ: IPL 2023: कप्तान ऋषभ पंत ही देंगें दिल्ली कैपिटल्स को धोखा, आईपीएल 2023 में भी अधुरा रह जाएगा ट्रॉफी जीतने का सपना