सोशल मीडिया के बढ़ते चलन और सस्ते इंटरनेट प्लान से उपभोक्ताओं को जितनी अधिक सुविधाएं मुहैया करायीं हैं उतना ही अफवाहों को भी बढ़ावा दिया है। दुनिया भर की उड़ने वाली तमाम तरह की अफवाहे उड़ती रहती हैं और क्रिकेट जगत भी इससे अछूता नहीं है। क्रिकेट की दुनिया भी अफवाहों के ढेर तले दबी हुई है।

विभिन्न खिलाड़ियों से जुड़ी कई ऐसी कई बातें सोशल मीडिया पर वायरल हो जाती हैं जिनका सच से दूर-दूर तक कोई नाता नही होता है। क्रिकेटर्स से जुड़ी हुई कई बातों ने सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरी लेकिन ये बाटे महज अफवाह ही निकली। आइये एक नजर डालते हैं उन 5 बातों पर जो वायरल तो हुईं लेकिन सच नही थी

एमएस धोनी और उनकी पत्नी साक्षी बचपन के दोस्त हैं

महेंद्र सिंह धोनी साक्षी सिंह धोनी

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ी कई सारी अफवाहों के से एक अफवाह ये है उनकी पत्नी साक्षी उनकी बचपन की दोस्त हैं। इस अफवाह ने इंटरनेट पर खूब सुर्खियां बटोरी थी। दरअसल धोनी की शादी की खबरें सामने आने के बाद से ही इन अफवाहों ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया था। दोनों के बारे में ये अफवाह तक उड़ गई थी कि धोनी और साक्षी रांची के एक ही स्कूल में पढ़ते थे। हालांकि बाद में साक्षी ने इन अफवाहों पर विराम लगाते हुए स्पष्ट किया कि उन्हें धोनी के बारे में कुछ साल पहले ही पता चला है और शादी के बाद वे पहली बार रांची आयीं हैं।

धोनी ने बांग्लादेश के लिए सेट की फील्ड

महेंद्र सिंह धोनी
महेंद्र सिंह धोनी

आईसीसी विश्वकप 2019 के दौरान सोशल मीडिया में लगातार ये अफवाह उड़ती रही कि बांग्लादेश के ख़िलाफ़ खेले गए एक मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने सही फील्ड सेट नही होने पर खुद ही फील्ड सेट की थी। इस अफवाह की पुष्टि करने के लिए सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी प्रसारित किया जा रहा था। इस वीडियो में दिखाई दे रखा था कि बल्लेबाजी करते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने गेंदबाज को रोका और फील्डर की तरफ इशारा किया। हालांकि, यह महज एक अफवाह थी क्योंकि यह वीडियो एक अभ्यास मैच के दौरान का था जिसमें धोनी ने बॉलर को रोककर फील्डर की तरफ से इशारा किया था क्योंकि, गेंदबाजी के वक्त एक फील्डर चल रहा था, जिससे उनका ध्यान भंग हो सकता था।

पोंटिंग के बल्ले में स्प्रिंग लगी होना

Ricky Ponting

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तानों में शुमार रिकी पोंटिंग ने वनडे विश्व कप 2003 में भारत के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच में 121 गेंदों पर 140 रन बनाए थे। पोंटिंग की इस शानदार बल्लेबाजी के बाद इंटरनेट पर ये अफवाह तेजी से फैल रही थी कि पोंटिंग के बल्ले में स्प्रिंग लगी थी जिससे उन्हें गेंद को हिट करने में मदद मिली लेकिन अफवाह इतनी हास्यास्पद अफवाह थी कि आईसीसी ने इस पर ध्यान देना भी जरूरी नहीं समझा। यहां तक कि उस बल्ले की कभी जांच तक नही की गई जिससे पोंटिंग ने विश्वकप के फाइनल में सैकड़ा जड़ा था और भारतीय गेंदबाजों के छक्के छुड़ाए थे।

शेन वॉर्न के बुरे सपने’

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और विश्व के दिग्गज गेंदबाजों में गिने जाने वाले शेन वॉर्न से जुड़ी एक अफवाह है जो कई दशकों बाद भी बरकरार है। अफवाह ये है कि क्रिकेट ग्राउंड में सचिन तेंदुलकर के चौके और छक्कों की बौछार देखने के बाद इस आस्ट्रेलियाई गेंदबाज को तेंदुलकर के सपने आते हैं। दरअसल, इस अफवाह की शुरुआत उस वक्त हुई जब शेन वॉर्न ने एक बातचीत में कहा कि उन्हें सचिन के बारे में बुरे सपने आए थे। हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट किया था कि यह एक मजाक था लेकिन फिर भी यह अफवाह फैल गई और लंबे समय तक बरकरार रही।

हर्शल गिब्स और स्टीव वॉ की बातचीत

हर्शल गिब्स स्टीव वॉ

साल 1999 के विश्वकप से जुड़ी ये अफवाह उस दौर की सबसे बड़ी अफवाह थी। इस अफवाह में कहा जा रहा था कि विश्वकप के एक मैच के दौरान हर्शल गिब्स ने स्टीव वॉ का एक कैच छोड़ दिया था। जिसके बाद, स्टीव वॉ ने गिब्स से कहा कि उन्होंने न केवल कैच छोड़ा है बल्कि विश्व कप को भी छोड़ दिया है। इस विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को मात देकर विश्व कप से बाहर का रास्ता दिखा दिया था और फाइनल में पाकिस्तान को हराकर ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद स्टीव वॉ और गिब्स के बीच हुई इस बातचीत की खबर खूब वायरल हुई थी लेकिन, बाद में इस बात का खुलासा हुआ कि ऐसा कभी हुआ ही नही था।

ALSO READ –बीसीसीआई ने सबको चौंकते हुए लिया बड़ा फैसला, आयरलैंड दौरे पर राहुल द्रविड़ की जगह ये दिग्गज होगा टीम इंडिया का नया कोच