ग्लेन मैक्ग्रा और वसीम अकरम से भी खतरनाक थे ये 3 भारतीय खिलाड़ी, महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में बर्बाद किया गया करियर!
ग्लेन मैक्ग्रा और वसीम अकरम से भी खतरनाक थे ये 3 भारतीय खिलाड़ी, महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में बर्बाद किया गया करियर!

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) पूरी दुनिया में सबसे मजबूत और खतरनाक टीम मानी जाती है, क्योकि इस टीम में एक से बढ़ कर एक खिलाड़ी हैं, जो अकेले अपने दम ख़म पर मैच जीता सकते हैं। बरसो से हर दौर में कई टीम के लिए कई खिलाड़ी महानायक बनकर उभरे हैं। चाहे कपिल देव के दौर की बात करें या सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) या महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) विराट कोहली (Virat Kohli) या अभी की अभी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की टीम। हर दौर में भारत ने कई सुपरस्टार पैदा किए हैं। बल्लेबाज़ी में टीम इंडिया का कोई जवाब नहीं।

वहीं गेंदबाज़ी की बात करें तो भारतीय टीम का कोई तोड़ नहीं है। भारतीय टीम में जहीर खान, जवागल श्रीनाथ, प्रवीण कुमार, अजीत अगरकर और हरभजन सिंह जैसे कई बेहतरीन गेंदबाज़ हुए। इन खिलाड़ियों के अलावा भी कई शानदार खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल हुए थे और बहुत कम समय में ही बहुत अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन अचनाक ही टीम से चले गए। ऐसे में आज हम इस लेकर में इन्ही 3 गेंदबाज़ो की बात करेंगे, जिनका करियर बहुत जल्दी खत्म हो गया।

भारतीय क्रिकेट टीम के वो 3 गेंदबाज जिनका करियर जल्दी हो गया ख़त्म

1. इरफान पठान

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम है भारतीय टीम के ऑल राउंडर खिलाडी इरफान पठान (Irfan Pathan) का। इरफान पठान स्विंग गेंदबाज़ी में महारथ हासिल करने के साथ बाये हाथ के बहुत ही शानदार बल्लेबाज़ थे। इनकी घातक स्विंग गेंदबाज़ी से दुनिया के सभी बल्लेबाज़ों के पसीने छूट जाते थे। 2004 में इरफान पठान ने भारतीय टीम से अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी।

जिसमे उसी साल 2004 में ही इरफन पठान को आईसीसी की तरफ से इमर्जिंग प्लेयरऑफ़ द ईयर का अवार्ड दिया गया था। इरफान पठान की काबिलियत का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इरफान पठान ने अपने करियर के पहले ओवर में ही हैट्रिक लेने का कमाल कर दिखाया था, लेकिन इसके बाद धीरे-धीरे इरफान बहुत ही जल्दी भारतीय टीम से बाहर हो गए। इरफान पठान ने अपने करियर में 29 टेस्ट मैच, 120 वनडे और 24 टी-20 मैच खेले हैं।

इन दिनों इरफान पठान एक बार फिरसे मैदान पर अपना दमदार प्रदर्शन दिखा रहे हैं। पहले रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में इंडिया लेजेंड्स को लगातार दूसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बनाया। इसके एक दिन बाद ही इरफान पठान लीजेंड्स क्रिकेट लीग में अपनी टीम भीलवाड़ा किंग्स को फाइनल में पहुंचाने का काम किया है।

2. आरपी सिंह

इस लिस्ट में दूसरा नाम है भारतीय टीम के एक और स्विंग के जादूगर गेंदबाज आरपी सिंह (RP Singh) का। आरपी सिंह भारत के ऐसे चुनिंदा गेंदबाज़ो में से हैं, जिनको स्विंग में महारथ हासिल थी।आरपी सिंह ने साल 2007 में भारत को टी-20 वर्ल्डकप जिताया था। इसके अलावा इन्होने बहुत रिकॉर्ड अपने नाम किए थे।

हालांकि आरपी सिंह का करियर बहुत ही जल्दी ख़त्म हो गया। आरपी सिंह ने अपने करियर में सिर्फ 14 टेस्ट मैचो में ही 40 विकेट, 58 वनडे मैचों में 69 विकेट और इंटरनेशनल 10 टी-20 मैचों में 15 विकेटों अपने नाम किए हैं।

ALSO READ: T20 WORLD CUP: दिग्गज भारतीय खिलाड़ी की भविष्यवाणी, कहा “भारत नहीं ये टीम इस साल बनेगी टी20 विश्व कप 2022 की विजेता”

3. मोहित शर्मा

इस लिस्ट में तीसरा और आखिरी नाम है आईपीएल से भारतीय टीम का सफर तय करने वाले मोहित शर्मा (Mohit Sharma) का। मोहित शर्मा ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन दिखा कर भारतीय टीम का दरवाज़ा तोड़ा था। मोहित शर्मा ने इंटरनेशनल लेवल पर अपने करियर की शुरुआत साल 2013 में की थी।

शुरू में तो इनकी घातक गेंदबाज़ी का कोई तोड़ नहीं था, लेकिन समय के साथ धीरे-धीरे इनकी गेंदबाज़ी की धार कम होते चली गई, जिसके बाद से इन्हे भारतीय टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। मोहित शर्मा ने अपने करियर में 26 वनडे मैचों में 31 विकेट, और 8 इंटरनेशनल टी-20 मैचों में 6 विकेट लिए हैं।

ALSO READ: T20 WORLD CUP 2022: जसप्रीत बुमराह के बाद भारत को लगा एक और झटका, शानदार फॉर्म में चल रहा ये खिलाड़ी भी हुआ चोटिल, विश्व कप टीम से कट सकता है पत्ता!