सीएम योगी आदित्यनाथ के मुंह से ‘पटकना, ठोकना’ शोभा नहीं देता : अखिलेश यादव

AKHILESH YADAV AND CM YOGI ADITYANATH
AKHILESH YADAV AND CM YOGI ADITYANATH

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM YOGI ADITYANATH) के विधानसभा संबोधन को लेकर अब अखिलेश यादव (AKHILESH YADAV) ने उन पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान निशाना साधा उन्होंने कहा कि, “पटक कर मारना किस तरह की भाषा है? क्या यह सरकार के मुखिया की भाषा है। हम ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं करते हैं। मुख्यमंत्री को लैपटॉप चलाना भी नहीं आता है”।

इस दौरान मैंने सीएम का भाषण सुना वह तो ऐसे-ऐसे जवाब दे रहे थे, जैसे कि पिछले 4 सालों से सरकार ने मर्यादा में रहकर ही पूरा काम किया है। बीजेपी ने जितना ज्यादा इंस्टिट्यूशन का नुकसान किया है, उतना कभी नहीं हुआ। यूपी बीजेपी सरकार अब दिल्ली सरकार की नकल कर रही है। भारतीय जनता पार्टी ने यूपी सदन में बहुमत खिलाफ जाकर बिल पारित करवाए थे, जैसे कि दिल्ली सरकार ने किया था”।

AKHILESH YADAV AND CM YOGI ADITYANATH
AKHILESH YADAV AND CM YOGI ADITYANATH

जनता का हुआ अपमान

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि,

“उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जनता का अपमान हो रहा है। जिस तरह से दिल्ली की सरकार ने 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था को लेकर बात हुई थी, वैसे ही अब नकल करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने भी यही बात कही है। अर्थव्यवस्था के लिए सरकार ने क्या किया विकास के लिए किया ही क्या है? सरकार बड़ी-बड़ी बातें कर रही है।”

EX CM AKHILESH YADAV
EX CM AKHILESH YADAV

प्रदेश सरकार पर सवाल उठाते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि,

“कोई भी विकास दिखाई दे रहा हो तो हमें बताइए? जो लोग संकल्प पत्र ही भूल गया, उससे हम क्या उम्मीद कर सकते हैं। यह तो ऐसी सरकार है जो उद्घाटन का उद्घाटन और शिलान्यास का शिलान्यास कर रही है। मुख्यमंत्री के मुंह से पटक कर मारना ठोकना उठाना थर्मल प्लांट जैसे शब्द अच्छे नहीं लगते हैं क्या? यह मुखिया की भाषा होती है। सबसे बड़ा प्रोजेक्ट यहां पर एक्सप्रेस वे का है, क्या यह संकल्प पत्र में था?”

ALSO READ: सीएम योगी आदित्यनाथ के मुंह से ‘पटकना, ठोकना’ शोभा नहीं देता : अखिलेश यादव

सपा ने मजदूरों को दी आर्थिक सहायता

अखिलेश यादव ने कहा कि,

“मैं जानना चाहता हूं कि क्या एक्सप्रेसवे के प्रोजेक्ट उनके पास हैं? इंफ्रास्ट्रक्चर या फिर सोलर की वजह उनके मुंह से ठोकना, पटकना सुनाई दे रहा है। कोरोना काल के दौरान सरकार ने क्या मजदूरों की मदद की? कई मजदूरों की जान चली गई, लेकिन सरकार ने इस बारे में कोई भी बात नहीं की। समाजवादी सरकार ने उन 90 परिवारों की मदद की जिनमें मजदूरों की जान चली गई। क्या सरकार ने इस पर कोई भी दुख जाहिर किया”।

EX CM AKHILESH YADAV
EX CM AKHILESH YADAV

 

अखिलेश यादव कहते हैं कि,

“मुख्यमंत्री मर्यादाओं को तोड़ रहे हैं। संवैधानिक संस्थाओं को नुकसान पहुंचाया गया है। कई विधेयक को जबरदस्ती पारित करवाया गया। विधान परिषद में बहुमत ने विपक्ष है, लेकिन उनको नहीं सुने हैं, और परंपरा की बात करते हैं। आने वाले समय में जनता खुशहाली के साथ विकास करेगी”।

ALSO READ:  राकेश टिकैत ने ममता बनर्जी को बताया झांसी की रानी, कहा दीदी पर हमला पुरे देश पर हमला