/

लॉकडाउन के कारण चली गई थी पति की नौकरी, पत्नी ने कार को ही बनाया बिरयानी का स्टॉल

rajani and rohit sardana

साल 2020 में कोरोना संक्रमण के कारण पूरे देश भर में लॉकडाउन हो गया था, जिसके बाद लाखों लोग बेरोजगार हो गए। इनमें से कुछ लोग ऐसे भी थे, जिन्होंने हिम्मत नहीं हारी और नौकरी छूट जाने के बाद खुद का काम शुरू कर दिया। दिल्ली की निवासी रजनी सरदाना और रोहित सरदाना भी इन्हीं लोगों में से एक हैं, जो नौकरी छूट जाने के बाद बेरोजगार हो गए थे। लेकिन आज दोनों पति-पत्नी मिलकर बिरयानी का स्टॉल लगाते हैं।

rajani and rohit sardana

अपनी कार को बना लिया बिरयानी स्टॉल

शुरुआत में जब रजनी ने स्टॉल लगाना शुरू किया तो उनके मन में ख्याल आया कि, लोग कैसी बातें करेंगे? लेकिन नौकरी चली गई थी और उन्हें अपने पति का साथ देना था, उन्होंने दृढ़ निश्चय कर लिया और काम शुरू कर दिया। रजनी और रोहित ने नौकरी चली जाने के बाद काफी सोच-विचार किया और अपनी कार को बिरयानी स्टॉल बनाया। दोनों ने साथ मिलकर दिल्ली के रोहिणी कोर्ट के नजदीक बिरयानी स्टॉल लगाना शुरू कर दिया।

रजनी की बेटी का कहना था कि, उसकी मां के हाथों की बिरयानी उन्हें बेहद पसंद आती है। जिस वजह से रजनी ने इस बारे में सोचा और बिरयानी का ही स्टॉल लगाने का फैसला लिया। दंपत्ति ने हिम्मत दिखाते हुए मेहनत से काम शुरू किया और इसे ही अपना करियर मानकर घर का खर्चा चलाने लगे।

rajani and rohit sardana stall

दिल्ली की रहने वाली रजनी कहती हैं कि, एक बार कॉलोनी में दुर्गा पूजा के समय उन्होंने बिरयानी का एक बार स्टाल लगाया था, जहां पर लोगों ने उनकी बिरयानी की काफी तारीफ की। उसके बाद उन्होंने नौकरी चली जाने के बाद बिरयानी का स्टॉल लगाने पर विचार किया। रजनी और उनके पति रोज सुबह 5:00 बजे उठकर बिरयानी तैयार करते हैं, जिसमें 4 से 5 घंटे लगते हैं।

यह भी पढ़े: भारत की पहली महिला लेफ्टिनेंट थी किरण शेखावत, देश के लिए दे दिया था बलिदान

रजनी 10:00 बजे अपनी कार लेकर स्टॉल लगाने पहुंच जाती हैं और 3:00 बजे तक उनकी पूरी बिरयानी खत्म हो जाती है। अपने आने वाले ग्राहकों को बिरयानी के साथ चाप और तड़के वाला रायता भी देते हैं। जो कि ग्राहकों को काफी पसंद है। इस दौरान रजनी कोरोना संक्रमण के कारण स्वच्छता का खास ख्याल रखती हैं।

rajani and rohit sardana veg biryani

 

लोग मदद के लिए आगे आए

रजनी के पति रोहित ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी साझा किया था, जो कि काफी वायरल हुआ। इस वीडियो को देखकर लोग उनकी मदद के लिए आगे बढ़े। रोहित का कहना है कि, हमें लोगों की सहायता नहीं काम चाहिए, जिससे कि वह खुद मेहनत करके अपनी रोजी रोटी कमा सके। रोहित और रजनी किटी पार्टी, बर्थडे पार्टी और शादी पार्टी आदि में बिरयानी का आर्डर लेते हैं। रजनी और रोहित ने साबित कर दिया कि, कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता है। आज दोनों ही प्रेरणा बनकर सामने आए हैं।

यह भी पढ़े: गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगी बिहार की बेटी, IAF झांकी में दिखेगा जलवा

मै प्रतिज्ञा श्रीवास्तव बतौर लेखक TREND BIHAR में कार्यरत हूँ, आप तक खबरें पहुँचाने से पहले मै उसे पूरी तरह से प्रमाणित करती हूँ, फिर सही जानकारी के साथ आप तक पहुंचाती हूँ. अपने सुझाव हमें आप कमेंट के जरिये बता सकते हैं.