//

प्रेरणा: पलंग के नीचे मशरूम उगा कर शुरू किया कारोबार, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

BINA DEVI

आजकल महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों के बराबर ही अपना योगदान दे रही हैं। इसी तरह सभी के लिए प्रेरणा बन कर सामने आई हैं, बिहार के मुंगेर की रहने वाली बीना देवी ‘मशरूम लेडी’ के नाम से मशहूर बीना देवी ने जिस पलंग पर लेटती थी, उसी पलंग के नीचे ही मशरूम की खेती शुरू की और आज वह पूरे देश में मशहूर हो चुकी हैं। बीना देवी ने साबित कर दिया कि, यदि कोई भी व्यक्ति जीवन में कुछ भी करने की ठान ले तो सफलता पाने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता है।

BINA DEVI

पलंग के नीचे की जमीन से शुरू की मशरूम की खेती

एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले बीना देवी के पास मशरूम की खेती करने के लिए कोई भी जमीन नहीं थी, लेकिन उन्होंने खुद पर विश्वास कर मशरूम की खेती शुरू कर दी। बीना देवी जिस पलंग पर सोया करती थी, उसी पलंग के नीचे उन्होंने मशरूम 1 किलो बीज लाकर खेती शुरू कर दी। हम आपको बता दें कि, इस जमीन के अलावा बिना देवी के पास कोई भी अन्य जमीन नहीं थी। उन्होंने दिमाग लगाकर अपना यहां काम शुरू किया और 100 से भी ज्यादा गांव में लोगों को मशरूम की खेती करने के लिए प्रेरित कर चुकी हैं।

BINA DEVI MASHROOM

शुरुआत में लोगों ने दिए ताने

सबसे पहले बीना ने अपने पलंग के चारों और साड़ी बांध दी, जिसके बाद खेती शुरू की। बीना का ये तरीका देखकर लोग उनके घर तक पहुंच गए और कृषि विश्वविद्यालय की टीम भी वहां पर आ गई। यहां पर उनकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल होने लगे। बीना के कार्यों से प्रभावित होकर 1500 से ज्यादा परिवारों का जीवन यापन पहले से ज्यादा बेहतर हो रहा है।

यह भी पढ़े: सड़क किनारे सब्जी बेचते हुए पढ़ रहा था बच्चा, IAS ने ट्वीट कर कहा “हो कही भी आग, लेकिन आग जलनी चाहिए”

शुरुआत में जब बीना देवी ने खेती का काम शुरू किया तो सभी ने उनकी काफी आलोचना की, लेकिन आज बीना की तारीफ पूरा देश कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, देश के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद तक सभी उनकी तारीफ कर रहे हैं। बीना की कहानी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं ही ट्विटर के माध्यम से शेयर की थी, जिसके बाद लोगों को बीना की इस प्रेरित करने वाले कहानी के बारे में पता चला।

BINA DEVI PRESIDENT RAMNATH KOVIND

राष्ट्रपति के द्वारा नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी है बीना

साल 2014 में बीना देवी को मुख्यमंत्री के द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। इसके बाद साल 2018 में उन्हें महिला किसान अवार्ड से भी नवाजा गया। साल 2019 में बीना देवी को किसान अभिनव पुरस्कार भी दिया गया। बता दें कि 8 मार्च साल 2020 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बीना देवी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा नारी शक्ति पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है ।

दौड़ी पंचायत में 5 साल तक रह चुकी हैं सरपंच

बीना देवी के 4 बच्चे हैं, जिन्हें लेकर वे यही सोचती थी कि इन बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, लेकिन आज उनके बच्चे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। उनकी कुशलता को देखकर उन्हें टेटिया बंबर ब्लॉक के दौड़ी पंचायत का सरपंच बना दिया गया। यहां पर उन्होंने लगातार 5 सालों तक काम किया।

बीना देवी सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो साझा कर लोगों को मशरूम की खेती के बारे में जानकारी देती हैं। अपने इन कार्यों से बीना देवी देश की महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही है।

यह भी पढ़े: प्रेरणा: लाखों की नौकरी छोड़ गांव में बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रहे हैं इंजीनियर अजय कुमार