बिहार चुनाव में हार के बाद हरकत में आई पुष्पम प्रिया चौधरी, इन्हें बनाया प्रदेश अध्यक्ष

PUSHPAM PRIYA

प्लुरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी को बिहार विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था, इसके बाद उनकी पार्टी ‘द प्लेयर्स पार्टी’ का खाता भी नहीं खुल सका। जिसके बाद वह लगातार संगठन के फेरबदल में लगी हुई हैं। पुष्पम प्रिया चौधरी चुनाव में करारी हार के बाद से ही एक्शन में भी आ चुकी है। खबरों की माने तो पंचायत चुनाव होने से पहले ही प्लूरल्स पार्टी में कई तरह के बदलाव हो सकते हैं। वहीं अब पार्टी ने बिहार राज्य का कार्यकारी अध्यक्ष अलका सिंह को बनाने का निर्णय भी ले लिया है। यह जानकारी ट्विटर के माध्यम से दी गई है.

PUSHPAM PRIYA AND CHIRAG PASWAN PAPPU YADAV

बिहार चुनाव में गया सीट से चुनाव लड़ चुकी है अलका

बात करें अलका सिंह के बारे में, तो अलका सिंह बिहार के गया जिले की मूल रूप से निवासी हैं। वह बिहार चुनाव में गया सीट पर ही चुनाव लड़ चुकी है। इस चुनाव में भी उन्हें करारी हार का मुंह देखना पड़ा था। प्लुरल्स पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष अलका सिंह को बनाए जाने की घोषणा मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार मानने वाली पुष्पम प्रिया ने ट्विटर के माध्यम से की है।

 

PUSHPAM PRIYA

प्लुरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया ने किया ट्वीट

अलका सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा करते हुए प्लुरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया ने ट्वीट में लिखा कि,

“अलका सिंह प्लुरल्स की बिहार प्रदेश इकाई की कार्यकारी अध्यक्ष बनाई जाएंगी। बिहार के गया जी जिले की जिला प्रभारी और विधानसभा चुनाव में अलका सिंह को गया पार्टी की प्रत्याशी भी रह चुकी हैं। अलका जी पार्टी के शुरुआती दिनों से ही काफी सक्रिय कार्यकर्ता भी हैं। अलका सिंह अपने कार्यकाल के दौरान पार्टी का नेतृत्व करने वाली है और साथ ही साथ संगठन विस्तार आंतरिक चुनाव के अलावा आगामी पंचायत चुनाव तथा अन्य मुद्दों पर सभी कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करने का कार्य करेंगी”।

PUSHPAM PRIYA

 

ट्विटर के जरिए से पोस्ट करते हुए पुष्पम प्रिया आगे लिखते हैं कि,

“अलका सिंह के सभी कर्तव्यों को पूरा करने के लिए उनकी सहायता प्रदेश के उपाध्यक्ष, प्रदेश के महासचिव तथा राज्य की प्लूरल्स पॉलिटिकल काउंसलिंग करेगें”।

वैसे चुनावी नतीजे आने के बाद पुष्पम प्रिया चौधरी के हाथ सिर्फ निराशा ही लगी थी, लेकिन फिलहाल देखने वाली बात यह है कि, बिहार की राजनीतिक प्लूरल्स पार्टी की तरफ से आने वाले समय में अलका सिंह को कितनी कामयाबी हासिल होती है।

यह भी पढ़े: बिहार सरकार का बड़ा फैसला इन जिलों की 56 सड़कें होंगी चौड़ी, तुरंत हटेगा अतिक्रमण