नितीश पर पुष्पम प्रिया का कटाक्ष ‘वैकेंसी निकालेंगे नहीं तो रोजगार कहां से देंगे’, JDU ने कसा तंज

बिहार में जब से नितीश कुमार मुख्यमंत्री बने हैं उन पर कई तरह के आरोप लगते रहे हैं. अब जब नितीश सरकार ने संविदा पर आधारित नौकरियां देने के मामले में नये दिशा निर्देश जारी किए हैं, तो विपक्षी पार्टियों ने उन्हें घेरना शुरू कर दिया है, जिसका पलटवार भाजपा की सहयोगी पार्टी ने आंकड़ो के साथ दिया तो चुनाव के समय मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार रही पुष्पम प्रिया चौधरी का जवाब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

पुष्पम प्रिया चौधरी ने पूछा था सवाल

PUSHPAM PRIYA

आपको बता दें कि पुष्पम प्रिया चौधरी ने कुछ दिन पहले ही RTI के तहत जानकारी निकाल कर बिहार में खाली पड़े पदों को लेकर अपने सोशल मीडिया अकाउंट से मुख्यमंत्री नितीश कुमार से सवाल किया था, कि नौकरी के लिए वैकेंसी निकालेंगे ही नहीं तो भर्ती भरेगी कैसे.

यह भी पढ़े: बिहार में राशनकार्ड धारकों को नहीं मिल रहा राशन, पुष्पम प्रिया चौधरी ने सरकार को लगाई फटकार

पुष्पम प्रिया चौधरी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किया, जिसमे से एक में उन्होंने लिखा कि

वेंकैंसी आप निकालेंगे नहीं तो रोज़गार कहाँ से देंगे, काम कैसे होगा और उत्पादन कैसे बढ़ेगा? सिर्फ़ गोल-गोल घोषणाएँ होंगी तो फिर युवा बाहर ही जाने को मजबूर होंगे और मछलियाँ बाहरी राज्यों से बिहार आएगी! नितीश कुमार जी

इसके बाद अगले ट्वीट में उन्होंने अपने डाटा शेयर करते हुए एक और ट्वीट किया जो आप नीचे देख सकते हैं. मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार ने लिखा कि

“1448 में 1057 पद खाली! मछली उत्पादन की अपार संभावनाओं और रोज़गार के बड़े साधन होने के बावजूद बिहार में नीली क्रांति फेल काबिल युवा बेरोज़गार क्यों? प्लुरल्स की RTI पड़ताल से दिख गया कि मत्स्य विभाग में अधिकारी से लेकर लिपिक तक के लगभग सभी पद वर्षों से ख़ाली पड़े हैं।”

इतने पद हैं खाली

23 10 2020 leader1 20936460

पुष्पम प्रिया ने जो आंकड़े शेयर किए हैं उन्हें देखकर एक बात तो साफ़ है कि बिहार में बहुत सारे पद अभी भी खाली हैं, जिन्हें भरने की कोशिस ही नहीं की जा रही है. आंकड़ो के अनुसार मत्स्य विभाग- 1448 में से 1057, बिहार राज्य वित्तीय निगम – 578 में से 532, राजस्व एवं भूमि सुधार – 10344 में से 8461, क्रेडिट एंड इंवेस्टमेंट कॉर्पोरेशन – 100 में से 91 पद खाली हैं.

यह भी पढ़े:5 रूपये के लिए लोगों के खेतो में करती थी काम, आज 15 मिलियन डॉलर की कंपनी की हैं मालकिन

JDU ने दिया ये जवाब

AJAY ALOK

पुष्पम प्रिया चौधरी के इस तरह सवाल पूछने पर JDU ने भी उनको जवाब दिया, नितीश सरकार के एक नेता अजय आलोक ने कहा कि

“बिहार में पॉलिटिकल मशरूम की खेती खत्म हो गई है. जो थोड़ी बहुत सड़ी-गली बची है वह भी खत्म हो जाएगी. जहां तक बिहार में वैकेंसी की बात है तो सभी विभागों में तेजी से वैकेंसी निकाली जा रही है और जल्द ही देखियेगा की सभी विभागों के अधिकतर पद भर दिए जाएंगे.”

अजय आलोक ने पुष्पम प्रिया पर तंज कसते हुए उन्हें नौकरी करने की सलाह तक दे डाली. अजय आलोक ने कहा कि

“बिहार में वह विदेश से चुनाव लड़ने आई थीं, इसलिए उनका काफी सारा पैसा भी खर्च हो गया होगा. मेरी तो व्यक्तिगत तौर पर यह सला है कि बिहार सरकार की नौकरियों के लिए किसी वैकेंसी के लिए वह खुद को उपयुक्त पाएं तो अपने नाम से एक आवेदन दे दें. उन्हें नौकरी मिली तो घाटे की थोड़ी बहुत तो भरपाई हो ही जाएगी.”

यह भी पढ़े:भाई आज है भारत के सबसे बड़े राज्य का मुख्यमंत्री, बहन गरीबी की वजह से बेच रही है चाय